आलेख परिचय इतिहास

कलाकार की कल्पना की उड़ान से बांग्लादेश पहुंचे टिनटिन

  25 जुलाई 2021

एक बांग्लादेशी कार्टूनिस्ट फैन आर्ट "बांग्लादेश में टिनटिन" द्वारा "द एडवेंचर्स ऑफ टिनटिन" की पुरानी यादें ताजा कर रहे हैं, पर एक ट्विस्ट के साथ।

जब महात्मा गांधी ने म्यांमार में अहिंसात्मक क्रांति का प्रचार किया

  9 मार्च 2019

"मेरे पास आपको देने हेतु और कोई मार्गदर्शन नहीं है कि आप अपना ध्यान अहिंसा के सामान्य सिद्धांत पर यानी आत्म-शुद्धि पर लगायें। "

बांग्लादेशी शादियों में सांस्कृतिक बदलाव के चलते बदल रहा है खानपान

  5 फरवरी 2018

यद्यपि बांग्लादेशी विवाहों में परोसे जाने वाले व्यंजनों में बदलाव शुरू हो गया है, एक बात फिर भी कायम है - ये स्वादिष्ट होते हैं।

जापान : यौन दासियों की लंबित मांगों पर ध्यान खींचते वीडियो

  23 अप्रैल 2008

द्वितीय विश्व युद्ध के समाप्त होने के साठ साल से अधिक बीत जाने के बाद भी जापानी सेना के आदेशों के तहत अपहृत की गई स्त्रियाँ अब भी न्याय की बाट जोह रही हैं. इन स्त्रियों को सैनिक “आराम गृहों (कम्फ़र्ट स्टेशन) ” में यौन दासियों के रूप में जबरिया...

रूसः ओका

  13 दिसम्बर 2007

टर्किश इंवेज़न ओका नामक कार के बारे में लिखते हैं, “मास्को में पिज्ज़ा डेलिवरी के लिये ओका कार का भारी प्रयोग होता है, क्योंकि जाहिर तौर पर सर्दियों में बाईक चलाने की तुलना में यह ज्यादा गर्म रहता है। पर इसे चलाने वाले शौकीन अब मुट्ठी भर ही बचे हैं,...

यूक्रेनः प्रदर्शनी का सच?

मॉस्को में होलोडोमोर प्रदर्शनी में कलाविध्वंस (वैंडेलिज़्म) की घटना पर वहाँ के मेयर युरी लुज़कोव ने कहा, “मुझे लगता है कि इस प्रदर्शनी का बस एक ही मकसद थाः रूसी और युक्रेनी लोगों का एका तोड़ना और उनमें दरार पैदा करना।” यूक्रेनियाना इस तर्क को होलोकास्ट के परिपेक्ष्य में भी...

आर्मीनियाः खुला पत्र

तुर्की लेखक व चिट्ठाकार मुस्तफा अक्योल की आर्मीनियाई जातिसंहार विषय पर आप्रवासी आर्मीनियाई को लिखे खुले पत्र का जवाब “लाईफ इन आर्मीनिया” चिट्ठे के लेखक रफी ने तुर्की नागरिकों को लिखे अपने खुले पत्र से दिया है। 1915 से 1917 के बीच हुई घटनाओं को जातिसंहर का दर्जा देते हुये...

हिन्दी : क्रिकेटिया माहौल और एक शहीद की याद

  1 अक्टूबर 2007

24 सितम्बर की शाम को दिल्ली में खुशियों का सैलाब तब बह निकला जब श्रीसंथ ने मिशाब-उल-हक का वो कैच पकड़ा जिसने भारत को पहले ट्वेंटी20 विश्वकप में शानदार जीत दिला दी!! मेरी पलक झपकी भी नहीं थी कि आस पड़ोस पटाखों की आवाजों से पट गया!! बीसीसीआई (बोर्ड ऑफ...

पाईये दुनिया भर से रोचक कहानियाँ सीधे अपने इनबॉक्स में

* = required field
शुक्रिया! पर फ़िलहाल नहीं।