आलेख परिचय पर्यावरण

यह प्रविष्टि पढ़ें

कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान पक्षियों की वापसी बनी वन्यजीव फोटोग्राफरों के लिए वरदान

तालाबंदी के सप्ताह ने प्रदूषण व मानवीय हस्तक्षेप में कमी के कारण पक्षियों के लिए अनुकूल वातावरण तैयार कर दिया है।

यह प्रविष्टि पढ़ें

गेम ऑफ़ थ्रोंस और पर्यावरण में बदलाव: गर्मी से सावधान!

The Bridge  21 अप्रैल 2019

एक ऐसी दुनिया जहाँ राजनैतिक शक्तियां आने वाले खतरे से बेखबर आपसी रंजिश में मशगूल हैं- खतरा जो हमेशा के लिए सब बदल देगा.

यह प्रविष्टि पढ़ें

कोयला खदानों पर दिए अपने ऐतिहासिक फैसले में ऑस्ट्रेलियाई अदालत ने पर्यावरण पर मंडराते खतरे को स्वीकारा

  6 मार्च 2019

" न्यू साउथ वेल्स की अदालत द्वारा ऑस्ट्रेलिया में कोयला खदान व पर्यावरण के संबंध में दिए गए फैसले ने दुनिया को हैरत में डाला".

यह प्रविष्टि पढ़ें

एक भारतीय प्राध्यापक बना रहे हैं प्लास्टिक कचरे से टिकाऊ सड़कें

  29 अप्रैल 2018

प्रो. वासुदेवन ने देश में प्लास्टिक कचरे की बढ़ती समस्या देखकर ऐसी विधि की खोज की जिससे रीसायकल्ड प्लास्टिक कचरे से सड़कें बनायी जा सकें।

यह प्रविष्टि पढ़ें

धान खेत और भैंस: फिलीपींस के ग्रामीण जीवन की एक झलक

  22 जनवरी 2018

अकाम्पो ने ग्लोबल वँइसेस के साथ जो फोटो शेयर कि हेय ये सिर्फ समतल कृषि क्षेत्र का दृश्य नेही हेय, परन्तु अनजाने में फिलिपींस का कृषि कि दशा बता रहि हेय।

यह प्रविष्टि पढ़ें

नये ऐप द्वारा अब दृष्टिहीन भी देख पायेंगे सौर ग्रहण

"यह ऐप बतायेगा कि ग्रहण सिर्फ दिनदहाड़े होता डरावना अंधेरा नहीं है। लोग कहेंगे, ओह, मैं इसे सुन सकता हूं और छू भी सकता हूं!"

यह प्रविष्टि पढ़ें

अब नेपाल में रिक्शा नहीं पेडीकैब बोलिये हुज़ूर

पेडीकैब दक्षिण एशियाई लोगों के लिए आवश्यक गतिशीलता प्रदान करेगा। रिक्शा का उत्पादन, प्रबंधन करने वाले उद्योग गरीबों के लिए आय का प्रमुख स्रोत होंगे।

यह प्रविष्टि पढ़ें

भारतीय वैज्ञानिकों की तकनीक बचाएगी हाथियों के हमलों से

  4 अगस्त 2014

एक छोटी टीम हाथियों पर दिन के समय नजर रखताी है, और टेलिविजन चैनलों को जानकारी देती है। हाथियों के घूमने के क्षेत्र से दो किलो मीटर के दायरे वाले लोगाों को एक लिखित संदेश भेजा जाता है। एक छोटी टीम हाथियों पर दिन के समय नजर रखताी है, और टेलिविजन चैनलों को जानकारी देती है। हाथियों के घूमने के क्षेत्र से दो किलो मीटर के दायरे वाले लोगाों को एक लिखित संदेश भेजा जाता है।

तिपाईमुख बांध — प्रकृति और स्थानीय संस्कृति के लिए खतरा

  27 अक्टूबर 2013

भारतीय राज्य मणिपुर में बाढ़ नियंत्रण और पनबिजली उत्पादन के लिए, तिपाईमुख बांध की योजना बनाई गई है। लेकिन, इन सर्च फार ग्रीनर पास्चर्स ब्लॉग रपट करता है कि इस बांध से जलवायु में गंभीर परिवर्तन को बढ़ावा मिलेगा और पड़ोसी बांग्लादेश सहित नदी तट के निचले क्षेत्रों में रहने...

थाईलैंड शार्क संरक्षण परियोजना

  21 अक्टूबर 2013

थाईलैंड मे शार्क दिखाई देने की घटनाओ में 95 प्रतिशत कमी प्रकाश मे आने के बाद ई-शार्क परियोजना का शुभारंभ थाईलैंड मे किया गया है। थाईलैंड की ई-शार्क परियोजना का इस्तेमाल थाईलैंड मे शार्क की घटती संख्या के बारे मे जागरूकता बढ़ाने के लिए किया जाएगा। इसके अतिरिक्त संरक्षित समुद्री...

पाईये दुनिया भर से रोचक कहानियाँ सीधे अपने इनबॉक्स में

* = required field
शुक्रिया! पर फ़िलहाल नहीं।