आलेख परिचय शिक्षा

भारतीय जाति व्यवस्था में पितृसत्ता से टक्कर: मीनल की कहानी

द ब्रिज  28 अप्रैल 2024

नारीवाद का उद्देश्य मातृसत्ता नहीं होना चाहिए, वो भी असमानता होगी। लिंग की परवाह किए बिना मनुष्य रूप में समान स्वीकृति के लिए प्रयास होने चाहिए।

बढ़ते ऑनलाइन घोटाले भारत के डिजिटल परिदृश्य को डाल रहे हैं खतरे में

जीवी एडवोकेसी  23 मार्च 2024

मोबाइल फोन व डिजिटल लेनदेन के व्यापक उपयोग का लाभ उठाकर अनेक बेरोजगार साइबर अपराध को अपनी आजीविका का साधन बना चुके हैं

70 के दशक का पोलिश टीवी कार्टून आज के विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग और गणित की शिक्षा को बढ़ावा दे सकता है

70 के दशक में बनी एक पोलिश टीवी कार्टून श्रृंखला शिक्षकों को विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग व गणित बच्चों हेतु मज़ेदार बनाने में मदद सुझाती है।

मालद्वीव में धार्मिक स्वतंत्रता की स्थिति

  22 दिसम्बर 2013

मालद्वीव उन देशों में की सूची में उपर है जहाँ की सरकारे धार्मिक स्वतंत्रता नहीं देती हैं। मालद्वीव के नागरिकों का मुस्लमान होना आवश्यक है और वे इस्लाम के अलावे किसी और धर्म को नहीं अपना सकते। गैर मुस्लमान विदेशी वोट नहीं कर सकते, सार्वजनिक रूप से पूजा नहीं कर...

दुनिया भर से लोरियाँ, अरोरो में

अर्जेंटीना की एक कलाकार ग़ैबरीला गोल्डर ने अरोरो नामक परियोजना के तहत एक बीड़ा उठाया है, दुनिया भर से लोरियाँ खोज कर उन्हें रिकार्ड व संग्रहित करने का। राईसिंग वॉयसेज़ के निदेशक डेविड ससाकी ने 80+1 वेबसाईट पर ग़ैबरीला का साक्षात्कार रिकार्ड तो किया ही साथ ही ग्लोबल वॉयसेज़ के लेखकों और संपादकों को बचपन में सुनी लोरियाँ गा कर रिकार्ड करने की प्रेरणा भी दी।

इस सप्ताह की चिट्ठाकारा : जिलियन यॉर्क

  22 मई 2008

सप्ताह के चिट्ठाकार में आज मोरक्को की लेखिका जिलियन सी यॉर्क से बातें करते हैं जो कि वाइसेज विदाउट वोट्स में भी नियमित लिखती रही हैं. मेकेन्स, मोरक्को में दो साल बिताने के बाद वर्तमान में बोस्टन, अमरीका में निवास कर रहीं जिलियन स्वतंत्र लेखिका हैं, चिट्ठाकारा हैं तथा मोरक्को...

मोज़ाम्बीकः स्कूल फिर शुरु, पर सबके लिये नहीं

  28 जनवरी 2008

जूलियो मोज़ाम्बीक में, जहाँ अनेक बच्चे स्कूल नहीं जा पाते, पाठशालाओं के नये सत्र की शुरुवात और देश में शिक्षा की दिक्कतों के बारे में लिखते हैं। “मैं तो शिक्षा की गुणवत्ता के बारे में भी बात नहीं कर रहा। मैं सिर्फ बात कर रहा हूँ इस देश के हज़ारों...

चीनः विश्वविद्यालयों में गोल्फ संस्कृति

  23 नवम्बर 2007

झ्यूयाँग चीनी विश्वविद्यालयों में गोल्फ संस्कृति की निंदा करते हैं। उन्होंने पाया कि अन्य देशों में छात्र ऐसे खेलों का आनंद लेते हैं जिनमें शारीरिक चुनौती पर बल दिया जाता हो जैसे फुटबॉल य बास्केटबॉल जबकि गोल्फ बस अपनी “क्लास” दिखाने का खेल भर है।

ट्रिनीडाड व टोबैगो: काँडोम का तर्क

  24 अगस्त 2007

“सचाई ये है कि लोग यौन संबंध बना रहे हैं, चाहे अवैध हों या नहीं, और इनमें से भयावह तादात में हमारे मुल्क के लोग एचआईवी तथा अन्य STI (यौन जनित संक्रमण) से संक्रमित हो रहे हैं”। रैंबलिंग एंड रीज़न युवाओं को यौनिक रूप से जिम्मेदार बनाने के बारे में...

नामीबिया: विकास के डिजीटल उपकरण

जेरार्ड नामीबिया के लर्नलिंक परियोजना के बारे में लिखते हैं,”मैं लर्नलिंक से ही शुरुवात करुंगा, खास तौर पर उनके “नामीबिया” प्रकल्प से”।