आलेख परिचय फोटोग्राफी

यह प्रविष्टि पढ़ें

कलाकार की कल्पना की उड़ान से बांग्लादेश पहुंचे टिनटिन

  25 जुलाई 2021

एक बांग्लादेशी कार्टूनिस्ट फैन आर्ट "बांग्लादेश में टिनटिन" द्वारा "द एडवेंचर्स ऑफ टिनटिन" की पुरानी यादें ताजा कर रहे हैं, पर एक ट्विस्ट के साथ।

यह प्रविष्टि पढ़ें

कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान पक्षियों की वापसी बनी वन्यजीव फोटोग्राफरों के लिए वरदान

तालाबंदी के सप्ताह ने प्रदूषण व मानवीय हस्तक्षेप में कमी के कारण पक्षियों के लिए अनुकूल वातावरण तैयार कर दिया है।

यह प्रविष्टि पढ़ें

बांग्लादेशी शादियों में सांस्कृतिक बदलाव के चलते बदल रहा है खानपान

  5 फरवरी 2018

यद्यपि बांग्लादेशी विवाहों में परोसे जाने वाले व्यंजनों में बदलाव शुरू हो गया है, एक बात फिर भी कायम है - ये स्वादिष्ट होते हैं।

यह प्रविष्टि पढ़ें

धान खेत और भैंस: फिलीपींस के ग्रामीण जीवन की एक झलक

  22 जनवरी 2018

अकाम्पो ने ग्लोबल वँइसेस के साथ जो फोटो शेयर कि हेय ये सिर्फ समतल कृषि क्षेत्र का दृश्य नेही हेय, परन्तु अनजाने में फिलिपींस का कृषि कि दशा बता रहि हेय।

यह प्रविष्टि पढ़ें

संघर्ष और दुखांत से परे फलीस्तीन की जिंदगी दिखाती तस्वीरें

ह्यूमन्स ऑफ पैलेस्टाइन का लक्ष्य है मानवता को बचाए रखना. वह भी ऐसे समय में जब फलीस्तीनी सपनों और किस्सों से भरपूर लोगों की बजाए, साजिशों के कारण मौत, भूले जाने वाले नामों और विकृत शवों तक सीमित हो गए हैं

यह प्रविष्टि पढ़ें

हंगरी : फोटोब्लॉगिंग

  27 जून 2008

बुडापेस्ट में होने जा रहे ग्लोबल वाइसेज सिटिजन मीडिया समिट में अब कोई एक सप्ताह से भी कम समय रह गया है, तो कुछेक हंगरीयाई रसोई ब्लॉगों, की चर्चा करने के बाद, आइए हम कुछ हंगरीयाई फोटोब्लॉगों के दौरे पर चलते हैं. यहाँ बहुत से फोटोब्लॉग हैं और उनकी गुणवत्ता भी अत्यंत उच्च कोटि की है.

इरानः नारों की सचाई

फोटो ब्लॉगर कुसुफ़ ने एक गंदी दीवार के चित्र प्रकाशित किये हैं जहाँ महमूद अहमदिनेज़ाद के 2005 के राष्ट्रपति पद के चुनाव प्रचार के समय के पोस्टर अब भी दिखते हैं। पोस्टर पर खुशहाली और चैन के वायदे हैं। कुसुफ़ पूछते हैं कि उन नारों का क्या हुआ? वो कहते...

इरानः अमरीकी सैनिक और इराकी बच्चे

रज़ेनो ने इराक में बच्चों की देखरेख करते अमरीकी सैनिकों की कई तस्वीरें प्रकाशित की हैं। इस चिट्ठाकार का कहना है कि इरानी मीडिया कभी ऐसी तस्वीरें नहीं छापता। भले ही युद्ध एक स्याह दास्तां हो पर इनमें मानवीय संवेदनायें भी तो शामिल रहती हैं।

यह प्रविष्टि पढ़ें

द बॉब्स: और विजेता हैं…

आपने बेचैनी से इंतज़ार किया। अपने कंप्यूटर पर डटे रहे। और शायद आप बर्लिन की उड़ान भी भर आये, जी हाँ बर्लिन में ही दायचे वेले द्वारा आयोजित और ग्लोबल वॉयसेज़ द्वारा सह प्रायोजित द बॉब्स यानि बेस्ट आफ ब्लॉग्स प्रतियोगिता 15 नवंबर को संपन्न हुई। इस साल की विजेता...

पाईये दुनिया भर से रोचक कहानियाँ सीधे अपने इनबॉक्स में

* = required field
शुक्रिया! पर फ़िलहाल नहीं।