ऊपर लिखीं भाषाओं के नाम देख रहे हैं ? हम ग्लोबल वॉइसेस के आलेखों का अनुवाद कर विश्व की सिटिज़न मीडिआ को सब तक पहुंचाते हैं।

जॉर्जिया के पांच वर्षीय राजकुमार की हुकूमत के लिए तैयारी

जॉर्जिया के सिंहासन के उत्तराधिकारी, महामहीम राजकुमार जॉर्जी बगैरेशन बगरातिओनी मुखरनबतोनिशवील (बाएं) और उसके पिता, जॉर्जिया के रॉयल हाउस के प्रमुख, महामहीम राजकुमार डेविट बगैरेशन-मुखरनबतोनी पारंपरिक जॉर्जियाई चोखा पहने हुए। (फोटो: द रॉयल हाउस ऑफ़ जॉर्जिया)

तलार किकवेशिविल द्वारा लिखित यूरेशियानेट लिमिटेड से एक भागीदार पोस्ट। अनुमति के साथ पुनर्प्रकाशित।

कई स्नेह करने वाले माता-पिता की तरह, पांच साल के जॉर्जी की फेसबुक पर उसके माता-पिता उसके सुंदर चित्र पोस्ट करते हैं : जन्मदिन के केक पर मोमबत्तियां बुझाते या कार के पहिये के पीछे लाल प्लास्टिक के धूप का चश्मा पहने या फिर गाड़ी ड्राइव करने का अभिनय करते हुए ।

लेकिन चित्रों के नीचे की टिप्पणियों उतनी सादगी नहीं दिखाती। “राजा अमर रहें !”, कई लिखते हैं। 12 वीं और 13 वीं शताब्दी की शाशक रानी, जो वास्तव में जॉर्जी के दूर की पूर्वज थीं, की बात करते हुए एक प्रशंसक ने लिखा , “उसकी भौहें तक रानी तामार की तरह दिखती हैं “।

जॉर्जिया यूरोप का हिस्सा बनने की इच्छा रखता है, और उसकी सरकार के लिए इसका मतलब है यूरोपीय संघ की शैली का लोकतंत्र । लेकिन जॉर्जियाई का एक अल्पसंख्यक समूह चाहता है की उनका देश सहस्राब्दी पुराने राजतंत्र को बहाल करके एक पुरानी यूरोपीय परंपरा का पालन करे। और उनकी आशाएं जॉर्जी – या, जैसा कि उनके फेसबुक पेज उन्हें पुकारता है, जॉर्जिया के रॉयल सिंहासन के वारिस, के छोटे कंधों पर टिकी हैं।

राजकुमार गियोर्गी का ऊँचा कद मुख्यतः जॉर्जिया ऑर्थोडॉक्स चर्च पैट्रिआर्क इलिया द्वितीय की वजह से है जिन्होंने 2007 में जॉर्जिया को संवैधानिक राजतंत्र अपनाने का आह्वान किया था उस समय, हालांकि, राह का रोड़ा यह था कि कोई स्पष्ट वारिस ही नहीं था। इलिया ने तब कहा था, “शाही वंश के प्रतिनिधियों में से मुकुट के एक उम्मीदवार को चुना जाना चाहिए और उनका बचपन से राजा बनाने के लिए उचित पालन पोषण होना चाहिए”।

बगरातिओनी वंश ने 10वीं से 19वीं शताब्दी की शुरुवात तक जॉर्जिया पर शासन किया था, तदुपरांत रूस ने जॉर्जिया को अपना उपनिवेश बनाकर राजशाही को समाप्त कर दिया था। बगरातिओनी वंश को रूसी अभिजात वर्ग में व्यवस्थित रूप से अवशोषित किया गया था। रूसी क्रांति और सोवियत संघ की स्थापना के बाद ज्यादातर वंशज यूरोप में फैल गए, लेकिन 1991 में जॉर्जिया के आजादी हासिल करने के बाद कुछ लोगों ने वापस आना शुरू किया, और राजशाही की बहाली की कल्पना होने लगी।

राजकुमार नुगजर बगरातिओनी ग्रेज़िंस्की जॉर्जिया में रुके रहे बगरातिओनी में से एक के पुत्र है और जॉर्जिया के आखिरी राजा के सीधे उत्तराधिकारी हैं। लेकिन उनकी बेटी आन्ना की बगरातिओनी वंश से बाहर किसी से पहले से ही शादी हो चुकी थी और दो बेटियां भी थीं। हालांकि उसने 2007 में तलाक ले लिया और इलिया ने उसका रिश्ता स्पेन में जन्मे दूर के एक चचेरे भाई, डेविट बगरातिओनी-मुखरनेली, के साथ स्थापित किया।

कुलपति द्वारा शादी का इंतजाम करने से पहले दोनों एक दूसरे को नहीं जानते थे, शाही परिवार से जुड़ी समस्याओं के बारे में एक टेलीविजन शो की मेजबान और जॉर्जी की दूर के रिश्तेदार ममुका बगरातिओनी कहती हैं। “शाही वंश के लिए यह बहुत ही आम बात है, देश के लिए अपनी निजी ज़िंदगी का त्याग कर देना”, एक साक्षात्कार में उन्होंने कहा।

दंपति ने 2009 में त्बिलिसी के पवित्र ट्रिनिटी कैथेड्रल में एक समारोह में शादी की, जिसमें 3,000 मेहमान थे। लेकिन यह विवाह ज्यादा देर टिका नहीं , 2013 में उनका तलाक हो गया।

उस समय तक हालांकि उन्होंने जॉर्जी को जन्म दे दिया था। वह 2011 में पैदा हुआ था और मत्सखेता में स्वेतत्सखोवेली के कैथेड्रल में, जहाँ जॉर्जियाई राजाओं को पारंपरिक ताज पहनाया जाता है, उसका बपतिस्मा किया गया। उनके एक धर्मपिता एक प्रमुख व्यापारी और समलैंगिक विरोधी उदारवादी कार्यकर्ता लेवन वासजेज़ है ।

“यह एक बड़ी घटना थी कि दो सौ साल बाद जॉर्जिया के राजकुमार के रूप में एक बच्चा बपतिस्मा हुआ,” इलिया ने कहा

जॉर्जी के जीवन के बारे में शाही परिवार के फेसबुक पेज के अलावा कम ही दस्तावेज हैं । तलाक के बाद, जॉर्जी अपनी मां के साथ त्बिलिसी में एक अपार्टमेंट में रहता है लेकिन उनके पिता उनकी परवरिश में सक्रिय रहते हैं; पिता और बेटे की एक पसंदीदा गतिविधि त्बिलिसी के पूर्व में बसे एक शहर रुस्तवी में ट्रैक पर ऑटो दौड़ देखने की रही है।

गियोर्गी की कुछ फेसबुक फ़ोटोज़ उनकी अनूठी परवरिश का जिक्र करते हैं। उनका अक्सर पारंपरिक जॉर्जियाई चोखा पहने हुए कुलपति के साथ फोटो लिया जाता है।

राजकुमार पहले से ही जॉर्जियाई, रूसी और स्पेनिश बोलते हैं, और हालाँकि उनके भावी शिक्षा के बारे में अभी भी परिवार के सदस्यों द्वारा चर्चा की जा रही है, राजा होने के अनुरूप राजनीति और सैन्य अध्ययन जैसे विषयों पर ध्यान केंद्रित किया जायेगा।

वह जल्द ही ख्रिदीली का अध्ययन करना शुरू कर देंगे , जो एक पारंपरिक जॉर्जियाई मार्शल आर्ट है जो देश में पुनरुत्थान कर रहा है। “यह एकाग्रता, संतुलन और धैर्य जैसे विभिन्न कौशल विकसित करता है,” बगरातिओनी ने कहा।

हालांकि राजशाही की बहाली की संभावना मंद है, लेकिन यह कम से कम सिद्धांत रूप में सार्वजनिक रूप से लोकप्रिय है। जुलाई 2015 में, त्बिलिसी के शोध केंद्र डॉटट्रिना ने एक सर्वेक्षण किया: जिन 560 जॉर्जियाई लोगों ने सर्वेक्षणमें भाग लिया उनमें से लगभग 30 प्रतिशत राजशाही की बहाली का समर्थन करते थे।

व्यवहार में, हालांकि, राजशाही बहाली की अवधारणा समर्थन पाने में विफल रही है। राजशाही की वापसी का समर्थन करने वाला राजनीतिक दल रॉयल क्राउन पिछले साल के संसदीय चुनावों में अपनी जमानत जब्त करवा बैठा। पार्टी राजकुमार की तुलना में पुरानी है, लेकिन इसके नेता, वाजा अबादीजेस ने कहा कि वह जॉर्जी के सिंहासन पर दावे का समर्थन करता है।

“वह एक बच्चा है, लेकिन मैं देख सकता हूं कि वह एक अद्भुत बच्चा है जो निडर और खुले दिमाग वाला है, और लोग उसे प्यार करेंगे,” अबशीदेज़ ने यूरेशियानेट को बताया “हमारा संरक्षक अब जॉर्जिया का कुलपति है, लेकिन स्वाभाविक रूप से वह रूढ़िवादी ईसाईयों के बारे में अधिक ध्यान रखता है। राजा अपने धर्म के बावजूद हर किसी से प्यार करेंगे। “

अबिशिडेज़ ने कहा जिस तरह सोवियत संघ के पतन की कोई भविष्यवाणी नहीं कर पाया उसी तरह जॉर्जिया के भाग्य में कोई और नाटकीय मोड़ शायद लोगों की उम्मीदों से कहीं पहले आ जाये। “यह भगवान की इच्छा है और हम नहीं जानते कि यह कब होगा, लेकिन यह निश्चित रूप से होगा,” उन्होंने कहा। “हमें सही समय के लिए तैयार रहने की आवश्यकता है, और यही कारण है कि हमें सिंहासन के लिए बढ़िया रूप से तैयार वारिस की आवश्यकता है।”

बातचीत शुरू करें

लेखक, कृपया सत्रारंभ »

निर्देश

  • कृपया दूसरों का सम्मान करें. द्वेषपूर्ण, अश्लील व व्यक्तिगत आघात करने वाली टिप्पणियाँ स्वीकार्य नहीं हैं।.

पाईये दुनिया भर से रोचक कहानियाँ सीधे अपने इनबॉक्स में

* = required field
शुक्रिया! पर फ़िलहाल नहीं।