Debashish Chakrabarty

Debashish is a Software Professional based at Pune, India। He had been blogging in English and Hindi since 2002। He founded India's first (and only) desi blog awards Indibloggies and the first Hindi blog aggregator Chittha Vishwa, Hindi webzine Nirantar and dabbles Hindi Podcast Podbharti. Debashish has also been a DMOZ editor and contributed towards localization of software such as WordPress, Gregarious, Pebble, IndicJoomla, IJoomla, Scuttle, Snap Shots, Blog Bar, among others. He has also been instrumental in beginning initiatives like Buno Kahani, a group blog where various authors literally weave a story and Anugunj – a web event hosted in turn by Hindi bloggers – where various bloggers write on a given topic. He also regularly contributes to the Hindi Wikipedia and the Hindi Lingua project of Global Voices. [More details]

ईमेल पता Debashish Chakrabarty

नवीनतम लेख Debashish Chakrabarty

कलाकार की कल्पना की उड़ान से बांग्लादेश पहुंचे टिनटिन

  25 जुलाई 2021

एक बांग्लादेशी कार्टूनिस्ट फैन आर्ट "बांग्लादेश में टिनटिन" द्वारा "द एडवेंचर्स ऑफ टिनटिन" की पुरानी यादें ताजा कर रहे हैं, पर एक ट्विस्ट के साथ।

‘टूलकिट’ मामले में पर्यावरण कार्यकर्ता दिशा रवि की गिरफ्तारी की हो रही है व्यापक आलोचना

जीवी एडवोकेसी  17 फरवरी 2021

एक लेखक ने कहा, "किसानों के समर्थन में गूगल डॉक्स का संपादन अब इस देश में राजद्रोह है।"

लॉकडाउन में फंसे रूसी, इंटरनेट पर (पुनः)निर्मित कर रहे हैं प्रसिद्ध कलाकृतियां

रूस में Izoizolyatsiya फोटोचैलेंज एक जुनून बन गया है। लोग घरेलू चीजों से प्रसिद्ध कलाकृतियों को फिर बना रहे हैं, मज़ेदार व विचित्र तरीकों से।

कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान पक्षियों की वापसी बनी वन्यजीव फोटोग्राफरों के लिए वरदान

तालाबंदी के सप्ताह ने प्रदूषण व मानवीय हस्तक्षेप में कमी के कारण पक्षियों के लिए अनुकूल वातावरण तैयार कर दिया है।

तंजानिया में नकली दवाओं के खिलाफ जंग के नये हथियार बने हैं ऑनलाइन प्लेटफॉर्म

  5 दिसम्बर 2019

दार अस सलाम के एक दवासाज हवा डागा का मानना है कि नए ऑनलाइन सिस्टम से दवा उत्पादों को ट्रैक करने में मदद मिलेगी।

जब महात्मा गांधी ने म्यांमार में अहिंसात्मक क्रांति का प्रचार किया

  9 मार्च 2019

"मेरे पास आपको देने हेतु और कोई मार्गदर्शन नहीं है कि आप अपना ध्यान अहिंसा के सामान्य सिद्धांत पर यानी आत्म-शुद्धि पर लगायें। "

एक भारतीय प्राध्यापक बना रहे हैं प्लास्टिक कचरे से टिकाऊ सड़कें

  29 अप्रैल 2018

प्रो. वासुदेवन ने देश में प्लास्टिक कचरे की बढ़ती समस्या देखकर ऐसी विधि की खोज की जिससे रीसायकल्ड प्लास्टिक कचरे से सड़कें बनायी जा सकें।

बांग्लादेशी शादियों में सांस्कृतिक बदलाव के चलते बदल रहा है खानपान

  5 फरवरी 2018

यद्यपि बांग्लादेशी विवाहों में परोसे जाने वाले व्यंजनों में बदलाव शुरू हो गया है, एक बात फिर भी कायम है - ये स्वादिष्ट होते हैं।

Debashish Chakrabarty का पन्ना

विज्ञान, तकनलाजी, इंटरनेट, सिनेमा, राजनीति व सामाजिक आर्थिक विषयों पर केंद्रित हिन्दी वेबपत्रिका सामयिकी पढ़ें और हिन्दी पॉडकास्ट सुनें पॉडभारती पर।


पाईये दुनिया भर से रोचक कहानियाँ सीधे अपने इनबॉक्स में

* = required field
शुक्रिया! पर फ़िलहाल नहीं।