- Global Voices हिन्दी में - https://hi.globalvoices.org -

‘अनट्रांस्लेटेबल’ ब्लॉग डाले छोटी भाषाओं की अद्वितीय शब्दावली पर प्रकाश

विभाग: नागरिक मीडिया, भाषा
[1]

छाया: एंडी सिमंस (CC BY-ND 2.0 लाइसेंस के अंतर्गत उपयोग किया गया)

अनट्रांस्लेटेबल [2] नामक एक ब्लॉग भाषा प्रेमियों का दुनिया भर से ऐसे शब्दों की जमात से परिचय स्थापित कर रहा है जिनका अनुवाद करना मुश्किल या असंभव है।

ऐसे शब्द हर भाषा में मौजूद हैं: अक्सर वे जटिल या बहुत विशिष्ट परिस्थितियों या भावनाओं को व्यक्त करते हैं। अनुवाद के लिए अयोग्य कुछ शब्द पहले से ही सर्वज्ञात हैं (जैसे कि प्रसिद्ध पुर्तगाली शब्द सॉडाचे [3]), और कुछ अन्य किसी संस्कृति का अभिन्न अंग बन गये हैं (जैसे कि स्पैनिश सोब्रेमेसा [4])। परन्तु इन सभी पर यह हठ बराबर लागू है कि इनका सीधा सादा अनुवाद करना नामुमकिन है। आप इनका किसी एक शब्द या अभिव्यक्ति से मंतव्य समझा ही नहीं पायेंगे, इसलिए उस एक शब्द में व्यक्त धारणा की गहराई को समझने के लिए एक पूर्ण व्याख्या और कभी-कभी कुछ संदर्भों को जानना भी आवश्यक होता है।

इन अद्वितीय शब्दों को ऑनलाइन सूची [5] में लंबे समय से एकत्र किया गया है। हालांकि जहाँ ऐसी सूचियां अक्सर जापानी, जर्मन, फ्रेंच, पुर्तगाली या फिनिश भाषा तक सिमट कर रह जाती हैं, अनट्रांस्लेटेबल के सृजक और भाषाविद् स्टीवन बर्ड [6] ने छोटी भाषाओं पर ध्यान केंद्रित करने का फैसला किया।

उदाहरण के लिए, ब्लॉग वानुआतु [7] से म्वोटलाप भाषा [8] में शब्दों को साझा करता है:

“वकास्तेग्लॉक” [9] – बालपन में किये समस्त देखरेख का सम्मान करते हुये अपने माता-पिता की देखभाल करें।

और ब्राज़ील के कुछ हिस्सों में बोली जाने वाली हन्सरिक भाषा [10] में ऐसे शब्द:

“क्वाडी” [11] – सर्दियों में धूप सेंकने के बाद लगने वाले आलस्य की अनुभूति।

अपने ब्लॉग के बारे में बर्ड स्वयं कहते हैं [12]:

यह अन्य संस्कृतियों पर प्रकाश डालता है, सोच के विभिन्न नमूने पेश करता है और हमारी जिज्ञासा को बढ़ावा देता है। कभी-कभी यह हमारी अपने आसपास की दुनिया का विश्लेषण और वर्गीकरण करने के तरीकों पर असर डालता है […] इस साइट पर योगदान करने वाले भाषाविद इन ‘अनुवाद के लिए अयोग्य’ शब्दों को और अधिक साझा करना चाहते हैं ताकि यह दिखा सकें कि ये छोटी भाषाएं कितनी विशिष्ट, मूल्यवान और शक्तिशाली हैं।

अनट्रांस्लेटेबल द्वारा पोषित “बहुमूल्य भाषा” के वक्ताओं को उनके पसंदीदा शब्द प्रस्तुत करने के लिए यहां आमंत्रित किया गया है [13]