See all those languages up there? We translate Global Voices stories to make the world's citizen media available to everyone.

सउदी अरब ने फिलिस्तिनी कवि को “नास्तिकता और लम्बे बालों” के कारण जेल में बंद किया

Saudi Artist Ahmed Mater shared this photograph on Twitter in support of Fayadh

फायध के समर्थन में सउदी कलाकार अहमद माटेर ने इस तस्वीर को ट्वीटर पर साझा किया

फिलस्तीन के कवि अशरफ फयध नास्तिकता फैलाने और लम्बे बाल रखने के कारण सउदी जेल में हैं। सउदी अरब में पले-बढ़े कवि को पाँच महीने पहले उस समय गिरफ्तार कर लिया गया जब एक पाठक ने यह कहते हुए उनके विरुद्ध शिकायत की कि उनके कविताओं में अनीश्वरवादी विचार हैं। आरोप सिद्ध नहीं होने पर उन्हें छोड़ देने के बाद फिर से 1 जनवरी 2014 को गिरफ्तार कर लिया गया

मीडिया और सामाजिक संजाल पर फयध का मामला सुर्खियों में है और पूरे क्षेत्र के सउदी लेखको की भर्त्सना बटोर रहा है। उनके कुछ मित्रो ने ऑनलाइन लिखा कि उनकी गिरफ्तारी का वास्तविक कारण पाँच माह पहले आभा की धार्मिक पुलिस द्वारा एक युवक की कोड़े से सार्वजनिक पिटाई का विडियो बनाया जाना हो सकता है।

अभी कवि किसी आरोप या आगामी मुकदमे के विवरण के बिना हीं जेल में है। नीचे दी गई सउदी अरब के लेखक, कलाकार और अन्य लोगों की भर्त्सना करती प्रतिक्रियाएं, उनके साथ एकजुटता प्रदर्शित करते हुए उनके मामले को स्पष्ट करती हैं।

#أشرف_فياض التحرش بالذات الإلهية وتطويل الشَعر…فقط عندما تتوقف هذه التهم المضحكة/المبكية يمكننا أن نبدأ الحديث عن الحقوق والحريات ووو

@reem_tayeb:अशरफ फयध स्वयं घोषित धार्मिक लोगों को परेशान करने और लम्बे बाल रखने के दोषी हैं…जब दुखद हास्यास्पद आरोप बंद होंगे तब हम अधिकार और स्वतंत्रता के बारे में बात करना शुरु कर सकते हैं।

#أشرف_فياض اعتقاله ليس الا اعلان اننا وصلنا الى ما وصلت اليه اوروبا في العصور المظلمة !!

@MohammdaLahamdl: अशरफ फयध की गिरफ्तारी इस बात की घोषणा है कि “हम उस स्थिति में आ गए है जिस स्थिति में यूरोप अंधकार युग में था।”

هل تعتقد أن إيمانك حقيقي وأنت تعتقد أن الله كائن قابل للتحرش به ؟! #أشرف_فياض

@WhiteTulip01: क्या आप सोचते हैं कि आपका विश्वास उस समय वास्तविक है जब आप यह सोचते हैं कि ईश्वर को परेशान किया जा सकता है!

أشرف_فياض معتقل بتهمة الالحاد!!وهل الكفر تهمة!! وهل الايمان إجبار!! هذا اذا افترضنا صحة التهمة أصلا

@MusabUK: अशरफ फयध को नास्तिकता के लिए गिरफ्तार किया गया है। क्या नास्तिकता जुर्म है? क्या विश्वास थोपा जाता है? यह ऐसा है जैसे कि हम मान लें कि आरोप सत्य है।

إن وجود #أشرف_فياض في السجن، مع المجرمين، والقتلة، لأنه شاعرٌ فحسب، لا يعنى سوى أن العدالة مسألة ترفيّة لدينا، سلطة وشعبا

@b_khlil: सिर्फ कवि होने के कारण अशरफ फयध को गिरफ्तार कर अपराधियों और हत्यारो के साथ रखा गया है, यह बताता है कि सामान्य जन और शासन व्यवस्था दोनों रुप में न्याय पर हमारा विशेषाधिकार है।

15 تهمة ملفقة للشاعر والفنان #أشرف_فياض تبدأ بالإلحاد وتنتهي بإطالة الشعر، لماذا ؟ لأنه قبل 5 أشهر صور هيئة أبها وهي تجلد شاب أمام الناس

@turkiaz: कवि और कलाकार अशरफ फयध को नास्तिकता और लम्बे बाल रखने के जुर्म सहित 15 आरोपो में जेल में बंद कर दिया गया है। क्यों? क्योंकि उसने धार्मिक पुलिस द्वारा एक युवक को सार्वजनिक रुप से कोड़े मारते समय का फिल्म बनाया था।

#أشرف_فياض الى اعلامنا ، هل ننتظر ، القليل من المهنية ستفي بالغرض. قضية اشرف فياض علي وشك ان تكون في صفحات كل المحطات العالمية قريبا

@AhmedMater: अपनी मिडिया को: क्या हमें इंतज़ार करना चाहिए? कुछ पेशेवर होने से काम हो जाएगा। अशरफ फयध का मामला जल्दी ही अंतर्राट्रीय मीडिया के मुख्य पृष्ठ पर होने जा रहा है।

تحولت التحقيقات مع الشاعر أشرف فياض بعد عجز المحقق أن يثبت شيئا من الاتهامات إلى أسئلة حول لماذا تدخن ؟ ولماذا شعرك طويل قليلاً ؟

@mohkheder: जब जाँचकर्ता अशरफ फयध पर कोई आरोप सिद्ध नहीं कर पाया तब उसने पूछना शुरु किया कि तुम धूम्रपान क्यों करते हो और तुम्हारे बाल लम्बे क्यों हैं।

बातचीत शुरू करें

लेखक, कृपया सत्रारंभ »

निर्देश

  • कृपया दूसरों का सम्मान करें. द्वेषपूर्ण, अश्लील व व्यक्तिगत आघात करने वाली टिप्पणियाँ स्वीकार्य नहीं हैं।.