मई, 2008

आलेख से मई, 2008

यह प्रविष्टि पढ़ें

यूट्यूब ने नागरिक पत्रकार चैनल प्रारंभ किया

  28 मई 2008

नागरिक पत्रकारों के हर किस्म के वीडियो को अब अत्यंत आसानी से ज्यादा से ज्यादा एयर टाइम मिलने वाले हैं. यूट्यूब वीडियो अपलोडिंग जालस्थल ने नागरिक पत्रकारों के लिए सिटिजन-न्यूज नाम से एक नया नागरिक पत्रकार वीडियो चैनल चालू किया है. व्लॉगर्स (ध्यान दें, ब्लॉगर्स नहीं – व्लॉगर्स) जो अपने...

दक्षिण अफ्रीकाः विदेशियों की हत्या का दोषी कौन?

दक्षिण अफ्रीका में विदेशी व बाहरी लोगों पर हुये हालिया हमलों के लिये डेविड सरकार को दोषी ठहराते हैं: “विदेशियों से जितनी नफरत दक्षिण अफ्रीकी करते हैं उतना शायद कोई नहीं करता। दक्षिण अफ्रीका आधिकारिक रूप से विश्व का सर्वाधिक ज़ीनोफोबिक (xenophobic) देश माना जाता है। नफरत तक ठीक है...

भारतः आम्र महोत्सव

कुक्स कॉटेज ने छापे हैं बाल गंधर्व, पुणे में संपन्न आम्र महोत्सव के चित्र। यदि आम की अलग अलग किस्मों की पहचान करना सीखना चाहते हैं तो यह प्रविष्टि ज़रूर पढ़ें।

यह प्रविष्टि पढ़ें

इस सप्ताह की चिट्ठाकारा : जिलियन यॉर्क

  22 मई 2008

सप्ताह के चिट्ठाकार में आज मोरक्को की लेखिका जिलियन सी यॉर्क से बातें करते हैं जो कि वाइसेज विदाउट वोट्स में भी नियमित लिखती रही हैं. मेकेन्स, मोरक्को में दो साल बिताने के बाद वर्तमान में बोस्टन, अमरीका में निवास कर रहीं जिलियन स्वतंत्र लेखिका हैं, चिट्ठाकारा हैं तथा मोरक्को...

नेपालः हिंसा और आप्रवासी

  21 मई 2008

काठमांडू स्पीक्स ने दक्षिण अफ्रीका में “बाहरी लोगों” के साथ हो रही हिंसा, और दुनिया के अन्य हिस्सों में आप्रवासियों के खिलाफ इसी तरह के विरोधों पर चिंता जताते हुये अपने ब्लॉग पर लिखा है।

भारतः क्या गूगल वाकई दुष्ट है?

  21 मई 2008

प्रूफी अपने ब्लॉग पर लिख रहे हैं कि आर्कुट पर अश्लील सामग्री पोस्ट करने के आरोप में एक व्यक्ति की पुलिस द्वारा गिरफ्तारी में सहयोग देना गूगल की कोई दुष्टता नहीं है।

भारतः डॉ विनायक सेन और सरकार

  18 मई 2008

ब्रेक आल चेन्स डॉ विनायक सेन के मामले के बारे में एक प्रविष्टि लिखी है। डॉ सेन सार्वजनिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ हैं और संप्रति नक्सलवादी आन्दोलन से जुड़े होने के आरोप में जेल में बंद हैं।

भारत: जयपुर बम धमाका, आतंकवाद और सरकार

13 मई को लगातार हुए बम धमाकों ने जयपुर को हिलाकर रख दिया . विविध रपटों के अनुसार, कोई 60 से अधिक लोग मारे गए व 150 से अधिक लोग घायल हुए. जयपुर जो कि अपेक्षाकृत एक शांत शहर है, के बारे में तथा धमाकों से हुए अफरातफरी के बारे...

पाईये दुनिया भर से रोचक कहानियाँ सीधे अपने इनबॉक्स में

* = required field
शुक्रिया! पर फ़िलहाल नहीं।